sponsor banner
sponsor
ads banner
sponsor banner
sponsor
ads banner
होमसमाचारविश्व कप समाचाररिचर्डसन के साथ हुए दुर्व्यवहार पर फीफा ने दिया जाँच का आदेश

रिचर्डसन के साथ हुए दुर्व्यवहार पर फीफा ने दिया जाँच का आदेश

रिचर्डसन के साथ हुए दुर्व्यवहार पर फीफा ने दिया जाँच का आदेश, ये वाक्य तब हुआ जब रिचर्डसन गेंद को लिए आगे जा रहे थे। तब किसी ने दर्शकदीर्गा से उनके उपर खेला फेंक दिया और ये चीज चर्चा का विषय बन गया।

फुटेज में मैनचेस्टर यूनाइटेड के मिडफील्डर फ्रेड को केले को लात मारते हुए दिखाया गया जबकि अन्य वस्तुओं को भी पिच पर फेंका गया।

फीफा ने इस विषय को गंभीरता से लेते हुए एक बयान जारी किया जिसमे कहा गया है कि फीफा नस्लवाद और हिंसा के किसी भी रूप को दृढ़ता से खारिज करता है और फुटबॉल में इस तरह के व्यवहार के खिलाफ एक बहुत ही स्पष्ट शून्य सहनशीलता का रुख है।

www.skysports.com

फीफा पेरिस में कल के खेल की घटना की जांच करेगा और इस उच्छ कदम उठायेगा।

ब्राजील ने नस्लवाद विरोधी बैनर के साथ तस्वीरें खिंचवाईं, जिस पर लिखा था, ‘हमारे अश्वेत खिलाड़ियों के बिना’हमारी शर्ट पर सितारे नहीं होंगे।

ब्राजील के दूसरे गोल के बाद रिचर्डसन की ओर एक केला फेंका गया। सीबीएफ भेदभाव के खिलाफ अपने रुख को मजबूत करता है और फुटबॉल में नस्लवाद के एक और प्रकरण का जोरदार खंडन करता है।

पढ़े: फैबियन डेल्फ़ और मिकेल दोनो ने अंतरराष्ट्रीय फुटबाल से लिया सन्यास

मैच के अंत के बाद रिचर्डसन से जब इस वाक्य के बारे मे पूछा गया तो उन्होंने सीधा  जवाब दिया कि जब तक आप इन्हे कठिन दंड नही देंगे ऐसी चीज़े हर जगह चलती ही रहेंगी।

थियागो सिल्वा ने भी इस कृत्य की निंदा की। उन्होंने कहा, “उनके द्वारा किए गए हावभाव से मैं दुखी था क्योंकि वह फुटबॉल नहीं है,” उन्होंने कहा। “फुटबॉल आपकी टीम का समर्थन करने के बारे में है ना किसी के जाती, पोशाक, या रंग के बारे मे टिप्पणी करने का विषय।

उन्होंने आगे कहा हम अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए अपना सब कुछ देने की कोशिश करते हैं। लेकिन इस तरह के इशारे फुटबॉल के लिए अच्छे नहीं हैं।

Satish Kumar
Satish Kumarhttps://footballsky.net/
मैं फुटबॉल का प्रशंसक हूं और फुटबॉल के बारे में लिखना पसंद करता हूं। मैंने अपनी पसंदीदा टीमों पर एक ब्लॉग पोस्ट लिखा है,
संबंधित लेख

सबसे लोकप्रिय