sponsor banner
sponsor
ads banner
sponsor banner
sponsor
ads banner
होमसमाचारकल्याण चौबे और बाईचुंग भूटिया के बीच अध्यक्ष पद की लड़ाई

कल्याण चौबे और बाईचुंग भूटिया के बीच अध्यक्ष पद की लड़ाई

AIFF PRESIDENT ELECTION Polls: भारतीय फुटबॉल महासंघ का अध्यक्ष पद की लड़ाई जोरो शोरो पर है, ये लड़ाई भूटिया जो की पूर्व कप्तान भी रह चुके है उनके बीच और कल्याण जो की पूर्व गोलकीपर रहे है उनके बीच की है। दो सितंबर को होने वाला ये चुनाव बेहद ही रोचक होने वाला है। क्योंकि इसमें पूर्व कप्तान बाईचुंग भूटिया और पूर्व गोलकीपर कल्याण चौबे के बीच सीधे टक्कर है। आपको ये भी बताते चले कि जो शीर्ष तीन पद है उनके लिए दो-दो उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल किया है। उम्मीदवारों को पर्चा दाखिल करने के लिए जो तय समय दिया गया था वो मंगलवार दोपहर एक बजे तक ही दिया गया था। जिसे सभी ने पालन भी किया।

उमेश सिन्हा जो की निर्वाचन अधिकारी है, उन्होंने ही दावेदारों की अंतिम सूची जारी की। आपको बता दे की जो मोहन बगान और ईस्ट बंगाल के पूर्व गोलकीपर कल्याण चौबे है वो बंगाल में भारतीय जनता पार्टी के नेता भी है। उन्हें दो राज्यों का समर्थन भी हासिल है जिसमे गुजरात और अरुणाचल प्रदेश का नाम शामिल है। यह सिर्फ अध्यक्ष के लिए नही बल्कि अध्यक्ष सहित उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष और 14 कार्यकारी सदस्यों के लिए भी होगा। यह भी तय किया गया है की छह पूर्व खिलाड़ी बाद में कार्यकारी समिति में शामिल किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें: Manchester United के मैनेजर ने किया स्पष्ट Ronaldo नहीं छोड़ेंगे क्लब

AIFF PRESIDENT ELECTION Polls: जिनमें से चार पुरुष और दो महिलाएं भी होंगी। कार्यकारी सदस्यों के लिए 14 ने ही आवेदन किया है। आपको बता दे की  इन सभी का निर्वाचित घोषित होना लगभग तय है। इन उम्मीदवारों का नाम कुछ ऐसा है – जी पी पालगुना, अविजित पॉल, पी अनिल कुमार, वलंका नताशा अलेमाओ, मालोजी राजे छत्रपति, मेनला एथेनपा, मोहन लाल, आरिफ अली, के नीबौ सेखोज, लालनघिंग्लोवा हमार, दीपक शर्मा, विजय बाली और सैयद इम्तियाज हुसैन।

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ के अध्यक्ष पद के लिए 2 सितंबर को चुनाव होने हैं। चुनाव में दो लोगों के बीच काटें की टक्कर देखने को मिल रही है। अब देखना ये होगा की आखिर अध्यक्ष कौन बनता है।

 

संबंधित लेख

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

सबसे लोकप्रिय